Statusmela.com - Best  Whatsapp Status In Hindi

Statusmela.com On this website, you will find all kinds of whatsapp status, Hindi Shayari, sms of upcoming festivals and lots of Hindi related to photo and social media.

Saturday, January 19, 2019

देश भक्ति शायरी | देश प्रेमियों के लिए देश भक्ति स्टेटस

Desh Bhakti Shayari Status जो लोग अपने वतन से प्यार करे हैं अपनी भारत माता से प्यार करते और आर्मी भाईयो से दिल से जुड़े रहते ये पोस्ट पोस्ट उन्ही के लिए हैं जैसा की हम सब जानते ही हैं की पहले हमें अंग्रेजो ने गुलाम बना लिया था और फिर हमरे देश के कुछ वीर जवानों ने उन्हें यहाँ से मर कर भगा दिया तो फिर आज की पोस्ट में उन्ही से जुडी देश भक्ति की शायरी और स्टेटस मौजूद है आपको जो लाइन पसंद आये उसे कॉपी कीजिये और उनके साथ शेयर कीजिये जो अपने वतन से प्रेम करते हैं 
desh-bhakti-shayari
Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari


दे सलामी इस तिरंगे को जिस से तेरी शान हैं,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक दिल में जान हैं.
 
"जब इश्क और क्रांति का अंजाम एक ही है
तो राँझा बनने से अच्छा है
भगत सिंह बन जाओ...!!
जय हिन्द
 
अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं
 

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे
देशभक्तो के खून की वो धारा याद करले.
 
ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता ,
नोटों में भी लिपट कर,
सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता
 
अधिकार मिलते नहीं लिए जाते है ,
आजाद हैं मगर गुलामी किये जाते हैं ,
बंदन करो उन सैनिकों का ,
जो मौत को आँचल में जिए जाते हैं

desh-bhakti-shayari-in-hindi
Desh Bhakti Shayari In Hindi

देश भक्ति शायरी हिंदी में  

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे
 
इश्क़ तो करता हैं
हर कोई मेहबूब पे मरता हैं हर कोई,
कभी वतन को मेहबूब बना कर देखो तुझ पे मरेगा हर कोई
 
मैं भारत बरस का हरदम सम्मान करता हूँ,
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हुँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा,
बस यही अरमान रखता हूँ

  

उस फौजी के बच्चे से पुछो दिवाली क्या है.??
जो पिछली बार भी लड़ा माँ से,
कि पिताजी कहाँ है...!! जय हिन्द
 
ऐ मेरे वतन के लोगों
तुम खूब लगा लो नारा ये शुभ दिन है
हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर न आये
 
जो अब तक ना खौला,
वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये,
वो बेकार जवानी है
 
न मरो सनम बेवफा के लिए,
दो गज जमीन नहीं मिलेगी दफ़न होने के लिए,
मरना है तो मरो वतन के लिए,
हसीना भी दुपट्टा उतार देगी तेरे कफ़न के लिए
 

करता हूँ भारत माता से गुजारिश
कि तेरी भक्ति के सिवा कोई बंदगी न मिले,
हर जनम मिले हिन्दुस्तान की पावन धरा पर,
या फिर कभी जिंदगी न मिले.
 
किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं
 
इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर की है जिसकी हिफाजत की हमने
ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बसाये रखना
 
लड़ें वो बीर जवानों की तरह,
ठंडा खून फ़ौलाद हुआ,
मरते-मरते भी की मार गिराए,
तभी तो देश आज़ाद हुआ
 


मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा
ये मुल्क मेरी जान है
इसकी रक्षा के लिए मेरा दिल और जां कुर्बान है
 
किसी गजरे की खुशबु को महकता छोड़ आया हूँ,
अपनी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूँ,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत माँ,
मैं अपनी माँ की बाहों को तरसता छोड़ आया हूँ
 
कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना,
कभी तपती धूप में जल के देख लेना,
कैसे होती हैं हिफ़ाजत मुल्क की,
कभी सरहद पर चल के देख लेना

No comments:

Post a Comment